संपादकीय क्या है विवरण सहित smpadkiya in hindi

संपादकीय

 

संपादकीय विभाग का गठन

संपादकीय विभाग
संपादक
विभाग
पत्रकार  , फोटो , पृष्ठ सज्जा , जानकार  , तकनीकी आदि

 

  • पत्रों को सूसंगठित रूप प्रदान करने के लिए उसे कई विभागों में विभक्त किया जाता है।

१ प्रकाशन विभाग ,

२ विज्ञापन विभाग ,

३ संपादकीय विभाग ,

४ वितरण विभाग ,

५ मुद्रण विभाग

 

सम्पादक

  • संपादक किसी भी समाचार पत्र का संपूर्ण दायित्व ग्रहण करता है।
  • किसी भी संपादकीय विभाग में केवल विज्ञापन को छोड़कर सारा विभाग कार्य करता है।
  • संपादक समाचार का निर्णय करता है , कि कौन सा समाचार प्रकाशित करना है अथवा नहीं।

 

उप संवाददाता

  • उप संवाददाता को किसी भी पत्र – पत्रिका का रीड की हड्डी कहा जाता है। वह संपादक की सभी विषयों कार्यों को करता है। केवल संपादकीय लेखन को छोड़कर।

सहायक

सहायक संपादक की सहायता करते हैं। समाचार के तथ्यों आदि को एकत्रित करने में भी सहायक का योगदान होता है।

संवाददाता

एकत्रित समाचार का संवाद करने के लिए संवाददाता का प्रयोग किया जाता है।

Read these articles too –

रामदास कविता व्याख्या सहित रघुवीर सहाय | Ramdas kavita vyakhya sahit

नेता क्षमा करें कविता व्याख्या सहित रघुवीर सहाय

आलोचना
आलोचना की संपूर्ण जानकारी | आलोचना का अर्थ , परिभाषा व उसका खतरा

उपन्यास

गोदान की मूल समस्या शहरी एवं ग्रामीण परिवेश में 

प्रेमचंद के उपन्यास गोदान में आदर्शवादी दृष्टि अथवा यथार्थवाद परिलक्षित होता है

शिक्षा

शिक्षा का समाज पर प्रभाव | समाज की परिभाषा | shiksha samaj notes

वैदिक शिक्षा की पूरी जानकारी हिंदी में Hindi notes

व्याकरण

फीचर लेखन की पूरी जानकारी Feature lekhan in hindi

विरेचन सिद्धांत संछिप्त नोट्स virechan notes

हमे सोशल मीडिया पर फॉलो करें

facebook page जरूर like करें 

youtube channel

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *